Join us?

खेल

वेस्‍टइंडीज घरेलू परिस्थितियों का फायदा उठाना चाहेगा

नई दिल्ली। अमेरिका और वेस्टइंडीज में होने वाले टी-20 विश्व कप में इस बार 20 टीमें भाग ले रही हैं, जिन्हें पांच-पांच के चार ग्रुप में बांटा गया है। ग्रुप ‘सी’ में दो बार की चैंपियन वेस्टइंडीज, न्यूजीलैंड, अफगानिस्तान, युगांडा और पापुआ न्यू गिनी को रखा गया है।इस ग्रुप से वेस्टइंडीज और न्यूजीलैंड के आगे बढ़ने की अधिक संभावना है। वहीं, अफगानिस्तान टीम को भी हल्के में नहीं लिया जा सकता। वेस्टइंडीज 2012 और 2016 में टी-20 विश्व कप का चैंपियन बना था और इस बार उनके ही देश में प्रतियोगिता का आयोजन होना है। ऐसे में उनका पलड़ा और भारी हो सकता है। न्यूजीलैंड 2021 में उपविजेता रहा था।
वेस्टइंडीज: (विजेता- 2012, 2016)
वेस्टइंडीज की टीम टी-20 विश्व कप में सबसे सफल टीम रही है। उन्होंने 2012 में श्रीलंका और 2016 में इंग्लैंड को हराकर खिताब अपने नाम किया था। इस बार यह प्रतियोगिता अमेरिका और वेस्टइंडीज में हो रही है, जिससे उनकी टीम को घरेलू परिस्थितियों का लाभ मिलेगा। इस बार टीम की कमान रोवमैन पावेल को सौंपी गई है। निकोलस पूरन, शिमरोन हेटमायर, रोमारियो शेफर्ड और अल्जारी जोसेफ पर नजरें होंगी।
न्यूजीलैंड: यह टीम 2021 में उपविजेता बनी थी, जब ऑस्ट्रेलिया ने दुबई में आरोन फिंच के नेतृत्व में टी-20 विश्व कप का चैंपियन बना था। न्यूजीलैंड की टीम ने विश्व कप में मजबूत रवैया दिखाया। उनका लक्ष्य इस प्रतियोगिता में अपना दबदबा जारी रखना होगा, जहां वे सबसे मजबूत टीमों में से एक है।
न्यूजीलैंड की कप्तानी केन विलियमसन कर करेंगे, जो अपनी अच्छी रणनीति के लिए जाने जाते हैं। टीम में केन के अलावा ट्रेंट बोल्ट, डेरिल मिशेल और रचिन रवींद्र पर निगाहें होंगी।
अफगानिस्तान: इस टीम ने दो वर्षों में कुल 130 मैच खेले हैं और उनमें से वे 79 मैच जीतने में सफल रहे हैं, जो अंतरराष्ट्रीय प्रारूप में एक अच्छा आंकड़ा है। आईपीएल में अफगानिस्तान के खिलाड़‍ियों के प्रदर्शन को देखते हुए हम निश्चित रूप से कह सकते हैं कि वे एक बड़ी प्रतियोगिता के लिए तैयार है। टीम की अगुआई राशिद खान कर रहे हैं।अफगानिस्तान ने अब टी-20 विश्व कप में 22 मैच खेले हैं, जिसमें से सात में जीत मिली है। राशिद के अलावा रहमानुल्लाह गुरबाज, अजमतुल्लाह उमरजई, मुजीब उर रहमान से उम्मीदें होंगी।
युगांडा : युगांडा की टीम पहली बार टी-20 विश्व कप में हिस्सा ले रही है। पिछले दो वर्षों में उन्होंने 80 टी-20 खेले हैं और केवल 30 मैच ही जीत पाए हैं। हालांकि इस वर्ष ब्रायन मसाबा की कप्तानी में युगांडा की टीम इस प्रतियोगिता में खुद को साबित करने के लिए कड़ी मेहनत करेगी। विश्व कप के लिए युगांडा की टीम में कई युवा प्रतिभाएं हैं।
पापुआ न्यू गिनी: यह टीम दूसरी बार ICC टी-20 विश्व कप में भाग ले रही है। असदुल्ला वाला की कप्तानी में पापुआ न्यू गिनी की टीम इस वर्ष खुदको साबित करने की पूरी कोशिश करेगी। टीम पर कई युवा प्रतिभाएं हैं, जो बेहतर करना चाहेंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button