Join us?

मध्यप्रदेश

नमामि गंगे अभियान के तहत जल संरचनाओं का किया जायेगा संरक्षण एवं संवर्धन

गुना । शासन के निर्देशानुसार जल संरचनाओं के संरक्षण एवं संवर्धन के लिए 05 जून से 16 जून तक नमामि गंगे अभियान संपूर्ण जिले में चलाया जायेगा। कलेक्टर डॉ. सिंह द्वारा आज कलेक्‍ट्रेट सभागार में अभियान के संबंध में सभी जिला अधिकारियों की बैठक का आयोजन किया गया। इस अवसर पर मुख्‍य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत प्रथम कौशिक सहित विभिन्‍न विभागों के अधिकारीगण उपस्थित रहे।
कलेक्टर डॉ. सिंह ने नमामि गंगे अभियान के संबंध में जानकारी देते हुए निर्देशित किया कि नमामि गंगे अभियान के तहत जिले की समस्त पंचायतों में जल स्त्रोतों तथा नदी, तालाबों, कुआँ, बावड़ी तथा अन्य जल स्त्रोतों के संरक्षण एवं पुर्नजीवन हेतु 5 जून से 16 जून तक विशेष अभियान के संचालन किया जायेगा। शासन द्वारा जारी निर्देशों के परिपालन में सभी विभाग उन्‍हें सौंपी गई जिम्‍मेदारियों को तत्‍परता से पूर्णं करें। मुख्‍य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत प्रथम कौशिक ने सभी विभागों को अभियान की रूपरेखा के संबंध में जानकारी देते हुए निर्देशित किया कि सभी अनुविभागीय अधिकारी एवं मुख्‍य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत पुराने कुंए, बावड़ी को चिन्हित करें। अनुविभागीय अधिकारी जल संरचनाओं के आसपास अवैध अतिक्रमण हटाने के लिए कार्य योजना तैयार करें। नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्रों में हरित क्षेत्र के विकास के लिए स्‍थान चिन्हित कर आवश्‍यक कार्यवाही करें। ऐसी निजी सामाजिक संस्‍थाएं जो कि जल संरक्षण संवर्धन के लिए कार्य करती है, उन्‍हें सम्‍मानित किया जाये। शासकीय एवं निजी भवनों में वाटर हार्वेस्टिंग सिस्‍टम प्रारंभ कराया जाये। अभियान अंतर्गत किये जाने वाले कार्य अभियान अंतर्गत नदी के घाटों एवं सार्वजनिक मंदिरों की साफ-सफाई तथा पुताई का कार्य जनसहभागिता से किया जायेगा। इसके अतिरिक्‍त दिनांक 06 जून को प्रत्‍येक स्‍थानीय निकाय में विशेष जल सम्‍मेलन बुलाना, दिनांक 08 जून को प्रात: 07 से 09 बजे तक स्‍थानीय नागरिकों के साथ समन्‍वय से वार्ड/ ग्रामवार कुंए/ बावड़ी/ जल संरचना की साफ-सफाई, दिनांक 09 जून को सामाजिक/धार्मिक महत्‍व की जल संरचना के समीप कलश यात्रा, जल संरक्षण विषय पर निबंध/ चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन, 10 से 16 जून तक जल संरचनाओं/ कुंए/ बावडि़यों की जनसहयोग से साफ-सफाई, 15 एवं 16 जून को गंगा दशमी के अवसर पर प्रमुख जल स्‍त्रोत नदी, तालाब, बावडि़यों के किनारे सांस्‍कृतिक कार्यक्रम, जिला/खण्‍ड/ नगरीय निकाय स्‍तर पर भ्रमण दल का गठन आदि कार्य किये जायेंगे।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button