Join us?

विशेष

पाचन को दुरुस्त रखने वाले मसाले

नई दिल्ली। पाचन से जुड़ी किसी भी प्रकार की दिक्कत, फिर चाहे वो ब्लोटिंग हो, बहुत ज्यादा गैस बनती हो या फिर कब्ज। इसका सीधा असर हमारे मूड पर पड़ता है। सुबह जब पेट सही तरीके से साफ नहीं होता, तो पूरा दिन मूड चिड़चिड़ा रहता है और कुछ खाने का भी दिल नहीं करता। पाचन से जुड़ी समस्याओं के लिए पूरी तरह से हमारी खानपान की आदतें जिम्मेदार होती हैं।

ये खबर भी पढ़ें : क्या है विटामिन डी और इनफर्टिलिटी में कनेक्शन

हम क्या खा रहे हैं और किस समय खा रहे हैं इन सभी का हमारे पाचन तंत्र पर असर पड़ता है। हालांकि डाइजेशन से जुड़ी ज्यादातर प्रॉब्लम्स को खानपान की सुधार कर दूर किया जा सकता है। एक्सपर्ट्स बताते हैं कि फाइबर रिच फूड्स पाचन तंत्र को हेल्दी रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं, साथ ही कुछ मसाले भी पेट से जुड़ी कई तरह की दिक्कतों का कारगर इलाज हैं।

ये खबर भी पढ़ें : Baby John के नए पोस्टर में इंटेंस लुक में नजर आए वरुण धवन

पाचन तंत्र को हेल्दी रखने वाले मसाले

सौंफ

सौंफ में अच्छी- खासी मात्रा में फाइबर मौजूद होता है, जो शरीर में मौजूद गंदगी दूर करने के साथ बॉडी को नौरिश करता है।भोजन में फाइबर की मात्रा से कब्ज की समस्या नहीं होती। इसे आप सब्जी, दाल, रोटी-पराठे में मिक्स करें या फिर खाने के बाद खाएं, दोनों ही तरीकों से फायदेमंद है।

ये खबर भी पढ़ें : New DL rules applicable from June 1, apply from home

हींग

डिश में हींग का तड़का न सिर्फ खाने का स्वाद, बल्कि उसके फायदे भी बढ़ाता है। हींग का कार्मिनेटिव तत्व गैस की समस्या दूर करने में बेहद असरदार है। साथ ही ये डाइजेेस्टिव एंजाइम्स को भी एक्टिवेट करता है।

ये खबर भी पढ़ें : मुख्यमंत्री साय के जनदर्शन कार्यक्रम का हुआ आगाज    

अजवाइन

अजवाइन में भी फाइबर की मात्रा मौजूद होती है, जिससे कब्ज की समस्या नहीं होती। साथ ही इसमें थाइमोल होता है, जो पाचन से जुड़ी कई तरह की परेशानियां दूर करता है।

ये खबर भी पढ़ें : कल्कि की एडवांस ओपनिंग ही बंपर, 50 करोड़ के पार

हल्दी

हल्दी में करक्यूमिन नामक पावरफुल एंटीऑक्सीडेंट मौजूद होता है, जो आंतों की सूजन दूर करने में असरदार है, जिससे पाचन में सुधार होता है।

ये खबर भी पढ़ें : जुलाई में बदल जाएंगे पैसे से जुड़े ये नियम

जीरा

जीरे की थोड़ी सी ही मात्रा काफी है पाचन से जुड़ी कई तरह की परेशानियां दूर करने में। इससे गैस, ब्लोटिंग, एसिडिटी जैसी कई समस्याओं से राहत मिलती है।

ये खबर भी पढ़ें : नाश्ते में आलू और प्याज ही नहीं, इस बार ट्राई करें ये 3 तरह के पराठे

Related Articles

Back to top button