Join us?

देश

सीबीआई ने नंबी नारायणन के खिलाफ आरोप को पाया झूठा

तिरुअनंतपुरम। सीबीआइ ने 1994 के इसरो जासूसी मामले में अंतरिक्ष विज्ञानी नंबी नारायणन को फंसाने के आरोप में एक स्थानीय अदालत में पांच व्यक्तियों के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल किया है। फिलहाल यह पता नहीं चल पाया है कि किन लोगों के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल किया गया है।

ये खबर भी पढ़ें : क्या है विटामिन डी और इनफर्टिलिटी में कनेक्शन

मालदीव की नागरिक को किया गया था गिरफ्तार

15 अप्रैल, 2021 को सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया था कि नारायणन से जुड़े जासूसी मामले में दोषी पुलिस अधिकारियों की भूमिका पर गठित उच्चस्तरीय समिति की रिपोर्ट सीबीआइ को दी जाए। उल्लेखनीय है कि 1994 में मालदीव की नागरिक रशीदा को तिरुअनंतपुरम में इसरो रॉकेट इंजन का ग्राफिक्स हासिल करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था।

ये खबर भी पढ़ें : चांद से मिट्टी लेकर आज धरती पर लौटेगा चांग ई-6

आरोपी ने क्या दी थी दलील?

रशीदा पर आरोप था कि उसने पाकिस्तान को बेचने के लिए रॉकेट इंजन का ग्राफिक्स हासिल किया है। नारायणन को भी तत्कालीन इसरो उपनिदेशक डी शशिकुमारन और रशीदा की दोस्त फौजिया हसन के साथ गिरफ्तार किया गया था। हालांकि, सीबीआइ जांच में आरोप झूठे पाए गए थे।

ये खबर भी पढ़ें : Audit of all 102 ambulances operated in Sarguja

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button