Join us?

विशेष

वड़ा पाव सेहत के लिए फायदेमंद या नुकसानदायक

नई दिल्ली। वड़ा पाव ऐसी डिश है, जिसे कुछ लोग लाइट स्नैक्स के रूप में, कुछ लोग ब्रेकफास्ट, तो कुछ लंच और डिनर में भी निपटाते हैं। बारिश के मौसम में तो मस्त गरमा-गरम अदरक वाली चाय हो और उसके साथ वड़ा पाव मजा ही आ जाता है। जहां कुछ की ये फेवरेट डिश है, तो वहीं हेल्थ कॉन्शियस लोग इसे जंक फूड मानते हैं, क्योंकि इसमें कोई न्यूट्रिशनल वैल्यू नहीं होती।वैसे आपको बता दें कि वड़ा पाव को दुनिया की बेस्ट सैंडविच की लिस्ट में शामिल किया गया। ‘टेस्ट एटलस’ ने इस लिस्ट को जारी किया है, जो ट्रेडिशनल फूड की एक ट्रैवल गाइड है। इस गाइड में खाने के रिव्यू के साथ उसकी रेसिपी, फेमस डिशेज के बारे में पूरी रिसर्च के साथ, उनके A to Z डिटेल्स होती है। 100 डिशेज की लिस्ट में वड़ा पाव को 13वां नंबर मिला है। अगर आपने आज तक इस डिश को नहीं चखा है, तो एक बार ट्राई करना तो बनता है।
खाएं लेकिन सोच-समझकर
1 पीस वड़ा पाव में लगभग 200-220 कैलोरी होती है। इन कैलोरी का लगभग 60 प्रतिशत हिस्सा फैट, 33 प्रतिशत हिस्सा कार्ब्स और 7 प्रतिशत प्रोटीन होता है। आपको बता दें कि हेल्दी व्यस्क को पूरे दिन में करीब 2000 कैलोरी की जरूरत होती है। इससे ज्यादा कैलोरी का इनटेक शरीर में कई तरह की बीमारियों का खतरा बढ़ा सकता है।
क्या इसे खाना सेहतमंद है?
वड़ा पाव खाने के शौकीन तो इसे सुबह नाश्ते से लेकर इवनिंग स्नैक्स तक में चाव से खाते हैं। कोमल मलिक, फरीदाबाद के एशियन हॉस्पिटल की हेड डाइटीशियन का कहना है कि, ‘नो डाउट वड़ा पाव खाने में लाजवाब होता है, लेकिन सेहत के लिहाज से ये बिल्कुल भी सही ऑप्शन नहीं। वड़ा पाव के अंदर आलू का पकौड़ा या बोंडा जो भी कहें वो रहता है। जिसका स्वाद बढ़ाने के लिए उसमें कई तरह के मसालों का इस्तेमाल किया जाता है। फिर इन्हें बेसन में लपेटकर डीप फ्राई किया जाता है। डीप फ्राई आलू बोंडे, मैदे का बना पाव और मसालों का इस्तेमाल इसे सेहत के लिए नुकसानदायक बना देता है।
दूसरा डीप फ्राई फूड आइटम्स बहुत तेजी से वजन और शरीर में सूजन बढ़ाते हैं। इतना ही नहीं डीप फ्राइड खाने की वजह से डायबिटीज, कैंसर, मोटापा, कार्डियो वैस्कुलर और अल्जाइमर जैसी बीमारियों का भी खतरा बढ़ जाता है। हालांकि कभी-कभार ऐसी चीजें खाने में कोई दिक्कत नहीं। वहीं पाव मे भरे जाने वाले बोंडे को तलने के लिए बार-बार अलग से तेल नहीं डाला जाता, बल्कि उसी पुराने तेल में इन्हें फ्राई किया जाता है। एक ही तेल को बार-बार गर्म करने से वो जहर बन जाता है। जो हार्ट के लिए बिल्कुल सही नहीं होता।
अगर आपको कभी-कभार जंक फूड खाने की क्रेविंग होती है, तो आप आलू की टिक्की को सीजनल सब्जियों के साथ मिलाकर इसे थोड़ा हेल्दी बना सकते हैं और मैदे की जगह मिलेट्स का इस्तेमाल कर सकते हैं। इससे वड़ा पाव को आप बिना गिल्ट के एन्जॉय कर सकते हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button