Join us?

छत्तीसगढ़

CG News: महापौर ने पेश किया 1901 करोड़ का बजट, मेट्रो-मिनी स्टेडियम सहित कई योजनाएं हैं शामिल…

रायपुर। महापौर एजाज ढेबर ने बुधवार को निगम मुख्यलय में 1901 करोड़ 31 लाख 93 हजार रुपए का बजट पेश किया। बजट को मेयर ने 57 लाख 71 हजार का फायदा देने वाला बताया है। शहर में पब्लिक ट्रांसपोर्ट को गति देने के लिए मेट्रो लाइट ट्रेन की व्यवस्था करने के लिए करीब 500 करोड़ की परियोजना का ऐलान किया गया है। इसे PPP मोड से पूरा किए जाने का प्रस्ताव है। बजट में युवाओं और महिलाओं पर फोकस रखा गया है। बजट पेश करने से पहले महापौर एजाज ढेबर बजट ब्रीफकेस लेकर आकाशवाणी स्थित काली मंदिर पहुंचकर आशीर्वाद लिया।

इसके निगम के बजट में शहर के विकास, प्रदूषण कम करने के इंतजाम और कला-संस्कृति के विकास को लेकर कई बड़ी घोषणाएं की गई हैं। बजट में हर जोन में डॉग कैचर उपलब्ध कराने का भी प्रावधान है। बजट में 10.15 करोड़ रुपए की लागत से ‘वर्ल्ड स्किल सेंटर’ खोलने की घोषणा की गई है। इसमें युवाओं को कौशल प्रशिक्षण दिया जाएगा।
वर्ल्ड स्किल सेंटर बनेगा
रायपुर नगर निगम क्षेत्र में 10.15 करोड़ रुपए की लागत से ‘वर्ल्ड स्किल सेंटर’ तैयार किया जाएगा। इसके अंतर्गत युवाओं को कौशल प्रशिक्षण प्रदान करने के साथ ही साथ रोजगार मूलक कार्यक्रमों से उन्हें जोड़ा जाएगा। युवाओं को उनकी नैसर्गिक प्रतिभा के अनुरूप रोजगार के अवसर मिले, योग्यता के अनुरूप काम मिले और अर्जित कौशल से वे सम्मान के साथ अपने करियर का चयन कर सकें यह सुविधा प्रदान की जाएगी।
डॉग शेल्टर होम बनाने का ऐलान
आवारा कुत्तों के रहवास के लिए 50 लाख रुपए की लागत से डॉग शेल्टर तैयार किया जाएगा। केन्द्र व राज्य सरकार के अधिनियम, नियमों व उपबंधों के अनुरूप पशु चिकित्सकों की देखरेख में यहां बीमार कुत्तों को रखने घायलों के उपचार बधियाकरण आदि की व्यवस्था होगी।
योगा सेंटर, जिम और उद्यानों के लिए 5 करोड़
प्रधानमंत्री आवासीय परिसरों में सामुदायिक भवनों की आवश्यकता महसूस की जा रही है। रहवासियों की अपेक्षा के अनुरूप सामुदायिक भवनों का निर्माण की योजना तैयार की गई है। इसके अलावा इन परिसरों के रख-रखाव हरीतिमा बढ़ाने के प्रबंध भी किए जाएंगे। नगर निगम द्वारा 5 करोड़ रुपए की लागत से कौशल प्रशिक्षण केन्द्र सह योगा सेंटर, जिम उद्यान और खेल प्रक्षेत्र निर्धारित करते हुए व्यवसायिक परिसर तैयार करने की योजना तैयार की जा रही है।
महादेव घाट के सौंदर्यीकरण के लिए 5 करोड़
आस्था और पौराणिक महत्व के लिए प्रतिष्ठित महादेव घाट क्षेत्र के विकास के लिए कार्य योजना तैयार की जा रही है। इसके अंतर्गत इस स्थल में आगन्तुकों के लिए बुनियादी सुविधाओं का विस्तार व सौंदर्यीकरण कर इसे रमणीक स्थल के रूप में विकसित किया जाएगा। इस हतु 5 करोड़ की राशि निर्धारित की गई है।
शहर में बनेंगे 3 मिनी स्टेडियम
आगामी वित्तीय वर्ष में 6 करोड़ की लागत से तीन मिनी स्टेडियम निर्माण की योजना है। इसके निर्माण से छोटे व मध्यम आयोजनों के लिए सभी आयु वर्ग को उपयुक्त स्थल प्राप्त होगा और रचनात्मक गतिविधियों से नई प्रतिभाएं आगे आएगी।
7 प्रवेश द्वार, 10 वेंडिंग जोन बनेंगे
रायपुर आगमन को भव्यतम पहचान देने के लिए 4 करोड़ की लागत से 7 स्थलों पर आकर्षक प्रवेश द्वार बनाए जाएंगे। आवागमन को सुव्यवस्थित करने और लघु पथ विक्रेताओं को सुविधाएं प्रदान करने नगर निगम क्षेत्र में 10 वेंडिंग जोन तैयार किए जाएंगे।
5 करोड़ की लागत से कला व संस्कृति केन्द्र बनेगा
रायपुर नगर निगम क्षेत्र में कला व संस्कृति के साधकों व नवोदित कलाकारों को मंच प्रदान करने 5 करोड़ रुपए की लागत से ‘कला व संस्कृति केन्द्र की स्थापना की जाएगी। इसके अंतर्गत परंपरागत कला, सगीत के प्रशिक्षकों की अगुवाई में नवोदित कलाकारों को प्रशिक्षण प्राप्त होगा, साथ ही परंपरागत व आधुनिक प्रचारतंत्रों से जुड़ी गतिविधियों जैसे- रिकॉर्डिंग स्क्रिप्टिंग, प्रोडक्शन संबंधी प्रशिक्षण व कार्य के लिए उपयुक्त स्थल प्रदान किया जाएगा।
स्टार्ट-अप स्टूडियो और को-वर्किंग सेंटर के लिए 5 करोड़
स्थानीय युवाओं को स्वरोजगार से जोड़ने व स्टार्ट-अप व सहकार्यता से जोड़ने के लिए 5 करोड़ की लागत से स्टार्ट-अप स्टूडियो और को-वर्किंग सेंटर का निर्माण किया जाएगा। इस जगह पर स्थानीय युवा अपने आइडिया आपस में शेयर करेंगे और अपने करियर से जुड़े विचार विमर्श कर रोजगार के नए साधनों की दिशा में आगे बढ़ेंगे
GE रोड को सजाने पर खर्च होंगे 15 करोड़
रायपुर की लाइफ लाइन माने जाने वाले जीई रोड को 15 करोड़ रुपए की लागत से आकर्षक स्वरूप देकर भव्यता प्रदान की जाएगी। शहर के प्रवेश द्वार पर 7 करोड़ रुपए की लागत से प्रदूषण नियंत्रण के लिए बफर क्लीन कॉरिडोर तैयार किया जाएगा।
स्मार्ट स्ट्रीट पर खर्च होंगे 8 करोड़
शहर के समीप से गुजरने वाले एक्सप्रेस वे के नीचे 1 करोड़ की लागत से मल्टी-प्ले तैयार किए जाएंगे। शहर के भीतर 8 करोड़ रुपए की लागत से स्मार्ट स्ट्रीट तैयार की जाएगी, जिसमें विशिष्ट रंगों की एकरूपता, भूमिगत केबल, चौड़ी सड़कें, ढंकी नालियों की व्यवस्था के साथ वेंडिंग प्वाइंट विकसित किए जाएंगे।
10 करोड़ की लागत से बनेगा अप्पू घर
रायपुर शहर में 10 करोड़ रुपए की लागत से उद्यानों के मरम्मत संधारण इत्यादि का कार्य किया जाएगा। बच्चों के आमोद-प्रमोद के लिए उचित स्थल प्रदान करने अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन करने नगर निगम रायपुर द्वारा प्रस्तावित अप्पू घर के निर्माण एवं संचालन इस वर्ष से शुरू किये जाने का निर्णय लिया गया है।
मेलों के लिए विकसित होंगे मैदान
रायपुर शहर के प्रगति मैदान का उन्नयन किया जायेगा और स्वदेशी मेला और दूसरी गतिविधियों के आयोजन के लिए उसे विकसित करेंगे। रायपुर में इस वर्ष खेल अकादमी का निर्माण किया जाएगा। इस अकादमी में अंचल के खिलाड़ियों को प्रशिक्षण प्राप्त होगा और इनडोर वेट लिफ्टिंग खेलों के खिलाड़ियों को उपयुक्त अवसर प्राप्त होगा।
हर जोन को डॉग कैचर उपलब्ध कराया जाएगा
कुत्तों की बढ़ती आबादी और नागरिकों को होने वाले नुकसान को देखते रखते हुए हर जोन में डॉग कैचर उपलब्ध कराए जाने का प्रावधान किया जा रहा है। आवारा पशुओं से होने वाली दुर्घटनाओं से नागरिकों को बचाने के लिए नगर निगम रायपुर निरंतर प्रयास करता है। इस वित्तीय वर्ष में सभी जोन में आवारा पशुओं की धरपकड़ के लिए अलग से मानव बल कराए जाने का प्रावधान किया गया है।
मेट्रो लाइट ट्रेन के लिए 500 करोड़
शहर में पब्लिक ट्रांसपोर्ट को गति देने के लिए मेट्रो लाइट ट्रेन की व्यवस्था की जाएगी। इसके लिए करीब 500 करोड़ की इस परियोजना को PPP मोड से पूरा किए जाने का प्रस्ताव तैयार होगा। आमतौर पर निर्माण के बाद परियोजना का मेंटेनेंस व्यापक स्तर पर किए जाने के सुझाव मिलते रहे हैं। इसे ध्यान में रखकर हाई लेवल मॉनिटरिंग कमेटी गठन करने का फैसला लिया गया है। यह कमेटी हो चुके कामों के मेंटेनेंस और संचालन कार्यों की नियमित मॉनिटरिंग की समीक्षा करेगी। इस कमेटी में महापौर, आयुक्त समेत अन्य जनप्रतिनिधियों को शामिल किया जाएगा।
100 इलेक्ट्रिक बसें चलेंगी
रायपुर शहर में मच्छर उन्मूलन के लिए 3 करोड़ का प्रावधान। शहर की सभी सब्जी मंडियों में ऑर्गेनिक कम्पोस्ट पीट का निर्माण कार्य कराया जाएगा। रायपुर शहर के लिए इस वित्तीय वर्ष में 100 नग इलेक्ट्रिक बसों का संचालन प्रारंभ कराया जाना है। उद्यानों के रख-रखाव के लिए सुरक्षा कर्मियों की नियुक्ति होगी।
शहर में 8 करोड़ की लागत से बनेगा मिनी टाइम स्क्वॉयर
रायपुर शहर के तेलीबांधा/एनआईटी/सिटी कोतवाली से जय स्तंभ चौक के मध्य 8 करोड़ रु की लागत से मिनी टाइम स्क्वॉयर का निर्माण होगा। सभी बड़े तालाबों का जैविक उपचार किया जाएगा। तालाबों के किनारे 10 करोड़ की लागत से हाई स्ट्रीट डेवलपमेंट कार्य किए जाएंगे।
स्मृति उद्यान बनेगा सिटी पिकनिक पॉइंट
मेयर एजाज ढेबर ने कहा कि, शहर के अंदर पिकनिक स्पॉट की जरूरत महसूस हो रही है, इसलिए 5 करोड़ की लागत से सिटी पिकनिक पॉइंट का निर्माण किया जाएगा। जहां बोटिंग, प्ले जोन, कुकिंग जोन, रिलैक्स जोन आदि तैयार किए जाएंगे। इंदिरा स्मृति उद्यान सिटी पिकनिक पॉइंट के रूप में विकसित करने की योजना है।
राजस्व वसूली के लिए 241 करोड़ 74 लाख का लक्ष्य
मेयर एजाज ढेबर ने बताया कि इस बार रायपुर नगर निगम में राजस्व वसूली का अनुमानित लक्ष्य 241 करोड़ 74 लाख 30 हजार रुपए निर्धारित किया गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
अपने रक्तचाप को कैसे करें नियंत्रित तेजी से सुधारें अपनी अंग्रेजी छत्तीसगढ़ में शानदार वॉटरफॉल स्पॉट….