Join us?

व्यापार

Business News:एचडीएफसी का शेयर बन गया कमाऊ, 13 सालों में 460 फीसदी का उछाल

नईदिल्ली।HDFC बैंक की तरक्की को पता नहीं किस की नजर लग गई है। प्राइवेट सेक्टर के सबसे बड़े बैंक और इसकी एनबीएफसी कंपनी एचडीएफसी के मर्जर के बाद से ही निवेशकों ने इससे मुंह मोड़ लिया है। पिछले एक साल में बैंक एक शेयर लगभग 16 फीसदी नीचे जा चुके हैं। हालांकि, यह 13 साल पहले के रेट से लगभग 467 फीसदी ऊपर हैं। इसके चलते गिरे हुए शेयरों को खरीद कर आप भविष्य में अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं।
HDFC बैंक के शेयर सोमवार को 0.21 फीसदी गिरावट के साथ 1427.30 रुपये पर ट्रेड कर रहे थ। बैंक का मार्केट कैप 10.86 लाख करोड़ रुपये हो चुका है। इसके चलते यह देश की तीसरी सबसे बड़ी कंपनी बन चुकी है। मगर, बीएसई पर 6 महीने में बैंक के शेयर लगभग 10 फीसदी और एक साल में 15.86 फीसदी नीचे जा चुके हैं। बैंक का अमेरिकन डिपाजिटरी रेसिप्टस फिलहाल 55.01 डॉलर है। इस एडीआर में भी 6 महीने में 11.73 फीसदी और एक साल में 17.43 फीसदी की गिरावट आई है। इन सबके बावजूद एचडीएफसी बैंक के शेयर को मल्टीबैगर का तमगा हासिल है। इस गिरावट के चलते बैंक के शेयर खरीदकर मुनाफा बनाने की अच्छी संभावनाएं पैदा हो रही हैं। शेयर अपने 52 हफ्तों के उच्चतम स्तर 1757.80 से लगभग 19 फीसदी नीचे है। अगर आप लॉन्ग टर्म में निवेश का प्लान बना रहे हैं तो यह शेयर मेगास्टार साबित हो सकता है। इस शेयर ने निवेशकों को तीन गुना तक पैसा बनाकर दिया है। बैंक ने 2011 में अपने शेयर को स्प्लिट भी किया था। इसके चलते यदि किसी के पास 10 रुपये की फेस वैल्यू वाले 1000 शेयर थे तो वो 5000 हो गए थे। इसके बाद 2019 में किए गए स्प्लिट के चलते अब उनकी संख्या 10 हजार हो चुकी है। एचडीएफसी बैंक के शेयर 13 साल पहले 252 रुपये के भाव पर थे। इसके बाद यह 466.61 फीसदी ऊपर गए। इसके चलते विशेषज्ञ फिलहाल इसके 20 से 35 फीसदी ऊपर जाने का अनुमान लगा रहे हैं। उनका मानना है कि मर्जर से पूर्व की स्थिति में आने में बैंक को कुछ समय लगेगा. हालांकि, बैंक का शेयर आने वाले कुछ महीनों में 1750 रुपये तक पहुंच सकता है। ट्रेंडलाइन डेटा के अनुसार, यह एक साल में 35 फीसदी तक उछल सकता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button