Join us?

मध्यप्रदेश
Trending

आकाशीय बिजली गिरने से झुलसे व्यक्तियों का हो बेहतर और निःशुल्क उपचार

राज्यमंत्री श्रीमती गौर ने पीडित परिवार से मिलकर दिया आश्वासन

भोपाल । पिछड़ा एवं अल्पसंख्यक कल्याण राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्रीमती कृष्णा गौर ने एम्स में उपचाररत आकाशीय बिजली गिरने से झुलसे परिवार के सदस्यों से मिल कर उनके स्वास्थ्य की जानकारी प्राप्त की। उन्होंने सभी का बेहतर उपचार कराने और पीड़ित परिवार को 2 लाख रुपये की आर्थिक सहायता उपलब्ध कराने को आश्‍वस्त किया।

ये खबर भी पढ़ें : गरीब-जरूरतमंदों को मिले सस्ती एवं गुणवत्तापूर्ण दवाईयों का लाभ : राज्यपाल पटेल

राज्यमंत्री श्रीमती गौर ने सोमवार 8 जुलाई को सुबह आकाशीय बिजली गिरने से सतनामी नगर झुग्गी बस्ती पिपलानी के  शैतान सिंह, सविता सिंह, सोनम और बालक अमन से एम्स के बर्न वार्ड में मिल कर उपचार के संबंध में बात कर जानकारी ली।

ये खबर भी पढ़ें : देश में जुलाई में सामान्य से ज्यादा बारिश का अनुमान

श्रीमती गौर ने शैतान सिंह से कहा कि परिवार के सभी सदस्यों का अच्छे से अच्छा उपचार करवाया जायगा। उपचार निःशुल्क करवाया जायगा। राज्य मंत्री श्रीमती गौर ने एम्स के बर्न वार्ड में ड्यूटी पर मौजूद चिकित्सक, डॉ. राहुल दुबेपुरिया से उपचार की जानकारी प्राप्त की।

ये खबर भी पढ़ें : वेदांता एल्यूमिनियम ने पर्यावरण और ऊर्जा उत्कृष्टता के लिए जीते अनेक पुरस्कार

उन्होंने एम्स के चिकित्सकों से आकाशीय बिजली से झुलसे परिवार के सदस्यों का बेहतर उपचार करने के लिए कहा एम्स के बर्न वार्ड के आई सी यू में भर्ती श्री शैतान सिंह ने राज्यमंत्री श्रीमती गौर को बताया कि सोमवार सुबह अचानक झुग्गी की छत की चादर टूट कर गिरी और उनके ऊपर आसमान से अंगारों की बारिश होने लगी। इससे वह, उनकी पत्नी सविता, पुत्री सोनम और पुत्र अमन आग में झुलस गए।

ये खबर भी पढ़ें : New DL rules applicable from June 1, apply from home

राज्यमंत्री श्रीमती गौर ने पीड़ित परिवार को 2 लाख रूपए की आर्थिक सहायता नियमानुसार देने के निर्देश एस.डी.एम. रवीश श्रीवास्तव को दिए। उन्होंने शैतान सिंह के पुत्र आकाश से उनके माता- पिता, बहिन भाई के निःशुल्क उपचार करवाने के साथ झुग्गी एवं घरेलू सामान की क्षतिपूर्ति का मुआवजा देने की बात कही। पार्षद ममता विश्वकर्मा,  भीकम सिंह बघेल, दलजीत सिंह और संतोष ग्वाला राज्यमंत्री श्रीमती गौर के साथ थे।

ये खबर भी पढ़ें : स्वस्थ जीवनशैली के लिए जानें स्वास्थ्य संबंधी सुझाव

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button